Ad Code

Ticker

6/recent/ticker-posts

सफेद दाग का रामबाण इलाज पतंजलि दवा, साबुन और आयुर्वेदिक नुस्खा

सफेद दाग का रामबाण इलाज पतंजलि दवा, साबुन और आयुर्वेदिक नुस्खा


सफेद दाग यह स्किन की बीमारी है जो अनुचित तथा विरुद्ध खानपान का सेवन करने से होती है जैसे कि दूध के साथ नमक  वाले पदार्थों का सेवन करने से शरीर में विषारी युक्त अम्ल (Toxin Acid)  तैयार होते हैं  जिसके कारण स्किन की कोशिकाओं (Skin Cells) को नुकसान होता है और सफेद दाग जैसी बीमारियां उत्पन्न होती है जिसके कारन शरीर की चमड़ी पर सफेद दाग दिखाई देते हैं। जिसके कारण चेहरे की सुंदरता नष्ट होने लगती है।  ऐसे में सफेद दाग को कैसे मिटाएं यह समस्या उत्पन्न होती है जिसके लिए लोग सफेद दाग का रामबाण इलाज पतंजलि, सफेद दाग का आयुर्वेदिक नुस्खा, सफेद दाग की होम्योपैथिक दवा, सफेद दाग में कौन सा साबुन लगाना चाहिए, सफ़ेद दाग  छुपाने की क्रीम आदि प्रकार के इलाज खोजते रहते हैं। आज हम इस पोस्ट के माध्यम से सफेद दाग का रामबाण इलाज पतंजलि औषधि द्वारा बताएंगे  इसके अलावा सफेद दाग मिटाने का आयुर्वेदिक नुस्खा और सफ़ेद दाग का साबुन की जानकारी देंगे  जिसका प्रयोग करके आप केवल 2 से 3 महीने में सफेद दाग से छुटकारा पा सकते हैं।

 
सफेद दाग का रामबाण इलाज पतंजलि दवा, सफेद दाग में कौन सा साबुन लगाना चाहिए, सफेद दाग  के लिए गांवरानी नुस्खा, आयुर्वेदिक नुस्खा
सफेद दाग का रामबाण इलाज पतंजलि दवा

    सफेद दाग का रामबाण इलाज पतंजलि

    सफेद दाग का रोग यह चेहरे की सुंदरता को नष्ट करता है। इस श्वेत कोष ( सफेद दाग) के रोग को लुकोडर्मा (Lucoderma) , विटिलिगो (Vitiligo), फुल्वेरी (Fulveri) के नाम से जाना जाता है।  शरीर में विरुद्ध खानपान और  विटामिन B12  के साथ साथ मिलेनियम की कमी  होने के कारण सफेद दाग जैसी बीमारियां उत्पन्न होती है।  इस रोग के शुरुआती समय में  स्किन पर  सफेद रंग  के छोटे-छोटे  बिंदु  नजर आते हैं  और वेह धीरे-धीरे  बड़े आकार में परिवर्तित होने लगते हैं। सफेद दाग का इलाज पतंजलि औषधि द्वारा किया जा सकता है। सफेद दाग का रामबाण इलाज पतंजलि  संस्थान की दवाइयोंमें मौजूद है। तो आइए जानते हैं पतंजलि संस्थान के अध्यक्ष रामदेव बाबा द्वारा बताया गया सफेद दाग का इलाज के बारे में।

    सफेद दाग का इलाज पतंजलि दवा 

    सफ़ेद दाग मिटाने के लिए पतंजलि दवाइयों का उपयोग किस प्रकार करे इसकी जानकारी निचे विस्तार में बताई गई है. पूरा पढ़े 

    1. सफेद दाग मिटाने के लिए पतंजलि की दवा

    सफेद दाग मिटाने  के लिए पतंजलि बावची चूर्ण का प्रयोग कर सकते हैं। आयुर्वेद में  ‘बावची के बिज’ यह  एक गर्म तासीर होती है।  बावजी के बीज 1 सप्ताह के लिए गोमूत्र में भिगोकर रखे। जिसके बाद बिज को सुखाकर  बावची की तासीर को ठंडा करें। जिसके बाद बावची के बिज पीसकर तासीर को रोजाना  चुटकी भर (एक चम्मच का पांचवा हिस्सा ⅕) हिस्से का सेवन करने से  सफेद दाग जैसी समस्या धीरे-धीरे कम होने लगती है। 

    2. सफेद दाग के लिए पतंजलि का आयुर्वेदिक नुस्खा

    अक्सर लोग आयुर्वेदिक नुस्खे में सफेद दाग का रामबाण इलाज खोजते रहते हैं। शरीर के सफेद दाग धब्बे मिटाने के लिए  100 ग्राम बावची चूर्ण  के साथ 20 ग्राम कायकल्प वटी का मिश्रण करें और मिश्रण में 20  ग्राम गिलोय  की गोली  मिलाएं।   इस प्रकार औषधि बना कर 2-2 ग्राम  सुबह- दोपहर- शाम में  सेवन करें। यह पतंजलि इलाज सफेद दाग  मिटाने में बेहद कारगर साबित होता है। जहान सफेद दाग मिटाने का आयुर्वेदिक नुस्खा बेहद कारगर साबित होता है। 

    3. सफेद दाग मिटाने के लिए आयुर्वेदिक पतंजलि लेप 

    सफ़ेद दाग का रामबाण इलाज पतंजलि लेप लगाकर किया जाता है. आयुर्वेद में  स्किन के सफेद दाग मिटाने के लिए Patanjali Switrghan Lep का इस्तेमाल बेहद फायदेमंद होता है। सफेद दाग का इलाज  करने के लिए Patanjali Switrghan Lep को गोमूत्र में मिलाकर उसका लेप बनाए और सफेद दाग वाली जगह पर उसे लगाएं।  लगभग 20 मिनट के बाद  पानी से धोएं और एलोवेरा जेल लगाएं। लगभग एक महीना यह उपाय करने से धीरे-धीरे सफेद दाग दिखना बंद हो जाएंगे और त्वचा पहले जैसी दिखने में मदद मिलेगी। 

    4. सफेद दाग मिटाने के लिए  पतंजलि गोमूत्र और नीम की पत्ती  फायदेमंद

    सफेद दाग मिटाने के लिए नीम की पत्ती बेहद कारगर साबित होती है।  नेम यह एक औषधि पौधा है जिसमें कई तरह के एंटीबायोटिक गुण पाए जाते हैं। सफेद दाग मिटाने के लिए नींद  की पत्तियों को  पीसकर  गोमूत्र के साथ भिलाई और उसका लेप बनाकर  शरीर के सफेद धब्बों पर लगाए।  लगभग 30 मिनट सूखने के बाद आप चेहरा तथा त्वचा को धो सकते हैं। यह सफेद दाग का घरेलू इलाज रोजाना करने से  सफेद दाग की समस्या दूर हो जाएगी। लगभग 15 दिनों के बादआप को स्किन में बदलाव  दिखाई देगा। पतंजलि गोमूत्र  किसी भी पतंजलि स्टोर में आसानी से उपलब्ध है खरीद कर सफेद दाग धब्बे और त्वचा की समस्याओं से समाधान पा सकते हैं।

    सफ़ेद दाग मिटाने के लिए यह विरुद्ध खानपान आज ही छोड़ दें

    जैसा कि सभी जानते हैं शुगर और बीपी जैसी समस्या  से पीड़ित व्यक्ति को चीनी और नमक  का सेवन कम करना चाहिए उसी प्रकार त्वचा की बीमारी के लिए तथा सफेद दाग धब्बे के लिए भोजन में नमक और चीनी की मात्रा कम करें। जिसके बदले में हरी सब्जी, फल, ड्राई फ्रूट्स आदि का सेवन कर सकते हैं जिससे विटामिन B12 की पूर्ति होने में मदद मिलेगी और स्किन प्रॉब्लम जैसी समस्या दूर होगी। स्किन संबंधित पीड़ित रोगियों के लिए खान-पान पर ध्यान देना बहुत जरूरी होता है। सफेद दाग के लिए खानपान कैसा रहेगा इसकी जानकारी नीचे बताई गई है। सफ़ेद दाग मिटाने के लिए इन चीजो का सेवन ना करे.
    • दूध के साथ नमक वाली चीजों का सेवन ना करें
    • भोजन में मूली के साथ अचार का सेवन ना करें
    • बैगन की सब्जी के साथ करेले की सब्जी ना खाएं
    • मिठाई और रसगुल्ले जैसे स्वीट पदार्थों का सेवन कम करें 
    • खीर के साथ पराठे का सेवन ना करें
    • दूध के साथ पराठा का सेवन ना करें 
    • सफेद दाग से पीड़ित व्यक्ति बैगन की सब्जी का सेवन ना करें 
    • दही का सेवन रात में ना करें
    • दही को गर्म  करके ना खाए
    • चर्म रोग से पीड़ित व्यक्ति अचार, अंडा और मछली का सेवन ना करें 

    सफ़ेद दाग के लिए प्राणायाम

    त्वचा को तरोताजा रखने के लिए खानपान के साथ-साथ सेहत का ध्यान रखना अभी बहुत जरूरी है।  प्राणायाम करने से कई बीमारियों का समाधान किया  जा सकता है।  प्राणायाम करने से शरीर की कोशिकाओं में ऑक्सीजन की मात्रा पड़ती है और सफेद दाग जैसे रोग प्राणायाम से दूर किए जा सकते हैं इसलिए रोज सुबह  तथा शाम के समय पर  प्राणायाम जरूर करें। तनाव तथा चिंता  अधिक करने से सफेद दाग की बीमारी  उत्पन्न होती है।  सफेद दाग मिटाने के लिए प्राणायाम का अधिक महत्व पाया गया है जो तनाव को दूर रखने में मदद करता है  और शरीर के रक्त वाहिका मैं खून का प्रवाह नियंत्रित करने में मदद करता है जिसकी वजह से सफेद दाग जैसी समस्या दूर हो जाती है। इसके लिए  5 मिनट भस्त्रिका, 15 से 30 मिनट कपालभाति, 15 से 20 मिनट अनुलोम विलोम प्राणायाम,  5- 5 मिनट भ्रम्ग्रित और रुद्र्गित  प्राणायाम जरूर करें। जिसके बाद ध्यान लगाकर ओम नाम का जप करें। यह बताए गए प्राणायाम रोज करने से मन शरीर तथा स्वास्थ्य तंदुरुस्त रहने में मदद मिलती है  और किन तरोताजा रहती है। 


    सफेद दाग में कौन सा साबुन लगाना चाहिए

    मार्केट में कई तरह के साबुन उपलब्ध है जो हानिकारक केमिकल से  बने हुए हैं। ऐसे में चर्म रोग से पीड़ित व्यक्ति को सफेद दाग में कौन सा साबुन इस्तेमाल करें यह सवाल  आता है। त्वचा को हानिकारक केमिकल से नुकसान होने की संभावना अधिक रहती है। स्किन के लिए नेचुरल तरीके से बनाया गया साबुन का इस्तेमाल करना बेहद जरूरी होता है ताकि स्क्रीन को नुकसान होने से बचाया जा सके। सफेद दाग के लिए कौन सा साबुन लगाना चाहिए इसकी जानकारी नीचे दी गई है। 

    1. पतंजलि मुल्तानी मिट्टी साबुन से सफ़ेद दाग से छुटकारा। Patanjali Multani Mitti Soap

    चर्म रोग से पीड़ित व्यक्ति के लिए मुल्तानी मिट्टी के पोषक तत्व बेहद जरूरी होते हैं। सफेद दाग के लिए पतंजलि का साबुन काफी फायदेमंद होता है। सफेद दाग की समस्या को कम करने के लिए पतंजलि मुल्तानी मिट्टी साबुन का इस्तेमाल करने से  स्किन को इंफेक्शन का खतरा कम हो जाता है। यह साबुन मुल्तानी मिट्टी से बनाया गया है जो स्किन को प्राकृतिक पोषक तत्व प्रदान करके त्वचा की सुरक्षा करता है।

    2. मेडिमिक्स आयुर्वेदिक  साबुन सफ़ेद दाग के लिए। Medimix Ayurvedic

    ज्यादातर लोग सफेद दाग में कौन सा साबुन लगाना चाहिए इस बात से परेशान रहते हैं। मेडिमिक्स का यह आयुर्वेदिक साबुन 18 से अधिक जड़ी बूटियों से बना हुआ है। जिसमें किसी प्रकार के हानिकारक केमिकल  शामिल नहीं है। यह साबुन आपके स्किन को पोषक तत्व और नैसर्गिक सुरक्षा देता है। सफेद दाग, खुजली  के लिए यह विभिन्न न जड़ी बूटियों से बना हुआ साबुन चर्म रोग की समस्या को दूर करने में काफी मददगार साबित होता है। 

    3. नीव हर्बल चारकोल साबुन। Neev Herbal Charcoal Soap

    नीव हर्बल यह साबुन पाम ऑयल, एरंड तेल (castor oil), महुआ ऑइल, रोज़मेरी ऑइल आदि प्रकार के नेचुरल तरीके से बना हुआ है। यह सभी चीजें  त्वचा के लिए उपयुक्त है, जो चेहरे की गंदगी (Dirt)  को निकालने में मदद करता है और इंफेक्शन से दूर रखता है। 'नीव हर्बल' सफ़ेद दाग के लिए यह साबुन बेहद उपयुक्त है.

    4. हिमालया हर्बल नीम & टरमरिक सोप। Himalaya Neem & Turmeric Soap

    हिमालया  कंपनी नेचुरल प्रोडक्ट के लिए काफी प्रसिद्ध है। नीम और हल्दी पाउडर से बना हुआ यह साबुन  100% नेचुरल तरीके से बनाया गया है। नीम पिंपल और चकत्ते (pimple and rashes) को दूर रखने में मदद करता है और हल्दी त्वचा के लिए एंटीऑक्सीडेंट के रूप में काम करती है। सफेद दाग मिटाने के लिए हिमालया हर्बल नीम & टरमरिक सोप यह साबुन काफी मददगार साबित होता है।

    सफेद दाग के लिए गांवरानी नुस्खा


    सफेद दाग के लक्षण दिखाई देते  ही  सफेद दाग का उपचार करना बेहद जरूरी होता है।  इस   बीमारी पर ध्यान ना देने से यह पूरे शरीर में फैल सकती है। अक्सर लोग  सफेद दाग के लिए घरेलू नुस्खा  तथा सफेद दाग के लिए गांवरानी नुस्खा खोजते रहते हैं।  सफेद दाग हटाने के लिए बकरी का दूध बेहद फायदेमंद पाया जाता है, जिसमें  विटामिन सी,  विटामिन-डी, सोडियम, पोटैशियम, मैग्नीशियम आदि प्रकार के प्रोटींस पाए जाते हैं। सफ़ेद दाग के लिए गावरानी नुस्खा बनाने के लिए एक चम्मच बकरी का दूध और एक चम्मच शहद  को मिलाकर  रोज सुबह खाली पेट इस नुस्खे का सेवन करे। लगभग 2 से 3 महीने के बाद  आपके सफेद दाग धीरे-धीरे कम होने लगेंगे।  


    सफ़ेद दाग सम्लोबंधित लोगो द्वारा पूछे गये सवालो के जवाब (FAQ)

    Q1. सफेद दाग में अंडा खाना चाहिए कि नहीं ?

    सफेद दाग तथा चर्म रोग से पीड़ित व्यक्ति को अंडे का सेवन नहीं करना चाहिए। क्योंकि अंडे की तासीर अधिक गर्म होती है जो चर्म रोग से जूझ रहे पीड़ित व्यक्ति की कोशिकाओं को अधिक नुकसान पहुंचा सकती है। 

    Q2. सफेद दाग में दूध पीना चाहिए कि नहीं ?

    सफेद दाग से पीड़ित व्यक्ति दूध का सेवन कर सकते हैं, परंतु दूध के साथ नमक वाले पदार्थों का सेवन ना करें। भूत के साथ नमक वाले पदार्थों का सेवन यह एक विरुद्ध खानपान है जिसके कारण टॉक्सिन एसिड बढ़ जाता है और  स्किन प्रॉब्लम जैसी समस्या उत्पन्न होती है।

    Q3.सफेद दाग में लहसुन का प्रयोग ?

    चर्म रोग तथा सफेद दाग से पीड़ित व्यक्ति  भुना हुआ लहसुन का सेवन कर सकते हैं। लहसुन में ऐसे औषधि  गुणधर्म पाए जाते हैं जो शरीर के विषारी पदार्थों को बाहर निकालने में मदद करता है और रक्त शुद्ध रखने में काफी मदद करता है जिसके कारण सफेद दाग जैसी बीमारियों का समाधान होने में मदद मिलती है।

    Q4. सफेद दाग को ठीक होने में कितना समय लगता है ?

    सफेद दाग जैसी समस्या ठीक होने के लिए आयुर्वेदिक और होम्योपैथिक उपचार किए जाते हैं। परंतु यदि शरीर पर सफेद दाग की समस्या कम हो तो ठीक होने के लिए लगभग 3 से 4 महीने का समय लगता है इसके आलावा यदि शरीर पर सफेद दाग का प्रमाण अधिक है तो लगभग 2 से 3 साल का समय लगता है।

    आज हमने क्या सीखा

    जैसा कि आपने जाना सफेद दाग का रामबाण इलाज पतंजलि दवाई द्वारा किया जाता है। स्किन प्रॉब्लम की बीमारी ठीक होने में काफी दीर्घकाल का समय लगता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के अनुसार दुनिया भर में  लगभग 2% लोग  चर्म रोग (Skin Problem) से पीड़ित है। अक्सर लोग चर्म रोग जैसी बीमारी को नजरअंदाज करते हैं  जिसके कारण  दिन प्रतिदिन चर्म रोग की समस्या बढ़ जाती है और उसे  ठीक करना लगभग मुश्किल हो जाता है। इसीलिए यदि  शरीर पर  सफेद दाग धब्बे  दिखाई दे, तो तुरंत स्किन स्पेशलिस्ट डॉक्टर को जरूर दिखाएं ताकि उचित समय पर दवाई का सेवन करके स्किन प्रॉब्लम जैसी समस्या को ठीक किया जा सके।

    उम्मीद करता हु दोस्तों हमारा लिखा गया यह पोस्ट सफेद दाग का रामबाण इलाज पतंजलि दवा, साबुन और आयुर्वेदिक नुस्खाआपको जरुर पसंद आया होगा सफ़ेद दाग की दवा सम्बंधित आपकी राय कमेंट में जरुर बताये

    यह पढ़े 

    Reactions

    Post a Comment

    0 Comments

    Ad Code